Connect with us

चमोली

बड़ी खबर: गैरसैंण में आयोजित होगा बजट सत्र, “आपका बजट आपके सुझाव” के तहत सरकार ने मांगे सुझाव

चमोली: उत्तराखंड सरकार इस बार का बजट सत्र ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में करने जा रही है। बजट सत्र कब होगा इसके बारे में आगामी कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया जा सकता है। 2022 के विधानसभा चुनाव के लिहाज से इस बार के बजट पर सभी की निगाहें लगी हैं। प्रदेश सरकार के इस बजट को चुनावी बजट के तौर पर भी देखा जा रहा है। सत्र के जरिए एक बार फिर प्रदेश सरकार गैरसैंण के एजेंडे पर अपने कदम मजबूती से रखने का प्रयास करेगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि इस बार का बजट सत्र गैरसैंण में आयोजित किया जायेगा। इस महत्वपूर्ण सत्र में राज्य के विकास का भावी रोडमैप तैयार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि समाज के प्रबुद्ध लोगों एवं युवाओं, महिलाओं से अपील की है कि ‘‘आपका बजट आपके सुझाव’’ के तहत अपने अमूल्य सुझाव जरूर दें।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 22 जनवरी को प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। यह बैठक शाम पांच बजे राज्य सचिवालय के विश्वकर्मा भवन के पंचम तल में स्थित सभागार में होगी। बैठक में प्रदेश सरकार कुछ अहम फैसले ले सकती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरसैंण प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। हम इस बार बजट सत्र गैरसैंण में करेंगे। बजट सत्र की तैयारी शुरू हो गई है। मैंने भी प्रदेश के नागरिकों, महिलाओं, युवाओं से बजट के बारे में सुझाव मांगें हैं।

जो सुझाव प्राप्त होंगे, उन महत्वपूर्ण सुझावों को ध्यान में रखकर बजट तैयार किया जायेगा। बजट में समाज के हर वर्ग का ध्यान रखा जायेगा। इसके लिए जितने महत्वपूर्ण सुझाव आयेंगे, उन सुझावों को ध्यान में रखकर बजट बनाया जायेगा।

बजट 2021-22 के लिए 20 जनवरी 2021 तक जनता से सुझाव मांगे गये हैं। कोई भी व्यक्ति राजकोषीय नियोजन एवं संसाधन निदेशालय की वेबासाइट http://budget-uk-gov-in/feedback एवं मोबाइल एप Uttarakhand Budget गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर अपना सुझाव दे सकते हैं।

त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में मीडिया से वार्ता करते हुए कहा कि गैरसैंण ग्रीष्माकालीन राजधानी खूबसूरत और आकर्षक हो उस दृष्टि से उसको विकसित किया जा रहा है। गैरसैंण में जब विधानसभा होती है तो दूरस्थ क्षेत्रों की समस्याएं सामने आती हैं। दूरस्थ क्षेत्रों के लोग देरादून कम आ पाते हैं, गैरसैंण में उन्हें अपनी बात रखने का मौका मिल जाता है। इससे धरातलीय सच्चाई भी सामने आती हैं।

Continue Reading
Advertisement

More in चमोली

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

देश

देश
Advertisement
Advertisement

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

To Top
error: Content is protected !!
5 Shares
Copy link
Powered by Social Snap