Connect with us
43e.g uttarakhand today
Corona Update: देवभूमि में पैर जमा चुका कोरोना, कोरोना से एम्स ऋषिकेश में छठवीं मौत, प्रदेश में कुल 15 मौत, आज कोरोना संक्रमितों का 1560 तक पहुंचा आंकड़ा, 808 ठीक हुए

उत्तराखंड

Corona Update: देवभूमि में पैर जमा चुका कोरोना, कोरोना से एम्स ऋषिकेश में छठवीं मौत, प्रदेश में कुल 15 मौत, आज कोरोना संक्रमितों का 1560 तक पहुंचा आंकड़ा, 808 ठीक हुए

WhatsApp Image 2020 09 16 at 10.00.24

ajax loader

Corona Update:

अमित रतूड़ी ऋशिकेश। देवभूमि उत्तराखंड में कोरोना अपने पैर जमा चुका है। जहां कोरोना संक्रमित आंकड़ों में इजाफा हो रहा है। वहीं अकेले एम्स में छह कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की मौत हो गई है।

FB IMG 1591781174350

जबकि बुधवार को दोपहर तक कोरोना संक्रमित का आंकड़ा 1560 तक पहुंच गया। जबकि प्रदेश में 15 लोगों की मौत हो गई। अभी तक 808 ठीक हो चुके हैं। जबकि 730 एक्टिव केस हैं।


बुधवार को नजीबाबाद उत्तरप्रदेश निवासी कोविड 19 के एक मरीज की मौत हो गई। हालांकि सभी मौतों में एम्स प्रशासन मृतकों को पूर्व से ग्रसित बीमारी का होना बताता आ रहा है।

लेकिन इस बात को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है कि सभी अन्य बीमारियों से ग्रसित मृतक कोरोना संक्रमित भी रहे हैं।
एक ओर जहां सरकार कारोना से लड़ने की बात पूरी मुस्तैदी से कह रही है।

वहीं देवभूमि में कोराना का ग्राफ 1560 तक पहुंच गया है। कोरोना ग्राफ में अचानक से आया यह उछाल पिछले एक माह के भीतर के हैं। इनमें संक्रमिक 15 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

जिसमें अकेले एम्स में भर्ती कोविड 19 मरीज शामिल हैं। एम्स में सबसे पहली मौत हल्द्वानी की महिला की हुई थी जो ब्रेन के इलाज के लिए एम्स में भर्ती थी।

इसके बाद बिजनौर निवासी एक महिला जो कैंसर से जूझ रही थी कोराना पाॅजिटिव होने के बाद कुछ ही समय में उसकी भी मौत हो गई। इसके अलावा ऋषिकेश श्यामपुर निवासी एक युवक की भी काल के ग्रास में समा गया।

कुछ ही दिन बाद मुज्जफरनगर निवासी दंपति की भी कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट आई थी जिनकी भी मौत हो गई। कोविड 19 समन्वय अधिकारी अपूर्वा ने बताया कि बुधवार की सुबह नजीबाबाद जिला बिजनौर उत्तरप्रदेश निवासी एक की मौत हो गई जो अन्य बीमारी के उपचार के लिए एम्स में भर्ती था लेकिन कोरोना पाॅजिटिव पाया गया।

एम्स में लगातार कोविड 19 से मृत्यु की दर बढ़ने से प्रशासन भी सकते में आया गया है। जबकि एम्स में जून माह के अंत तक जनरल ओपीडी को भी सुचारू करने का दावा किया जा रहा है।

देखना यह है कि कोराना मरीजों और जनरल रोगियों के लिए एम्स प्रशासन किस तरह की कवायद शुरू करेगा। वो भी ऐसे समय पर जब कोविड19 के मरीजों और उनकी मृत्यु की दर लगातार एम्स और प्रदेश में बढ़ रही है।

Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश
To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap