Connect with us
47e.g uttarakhand today
वैद्यों को झोलाछाप कहा, मचा बबाल, सीएमओ के पत्र पर यूनानी चिकित्सकों की नाराजगी

उत्तराखंड

वैद्यों को झोलाछाप कहा, मचा बबाल, सीएमओ के पत्र पर आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सकों की नाराजगी

WhatsApp Image 2020 09 16 at 10.00.24

ajax loader

देहरादून। अमित रतूडी
चंपावत सीएमओ के एक पत्र से खफा यूनानी चिकित्सकों में मुख्य चिकित्साधिकारी के लिए गुस्सा फूट गया है। दरअसल सीएमओ आफिस से जारी एक पत्र में आयुर्वेद चिकित्सकों को झोलाछाप के शब्दों से संबोधित किया गया है। जिससे (आइएसएम) भारतीय चिकित्सीय पद्वति के लोग सकते में आ गए हैं।

IMG 20200611 WA0017


दरअसल बीते दिनों मुख्य चिकित्सा अधिकारी चंपावत ने जिले में गठित न्याय पंचायत मेडिकल टीम को एक पत्र जारी किया। जिसमें उल्लेख किया गया कि कोविड19 की सुरक्षा के दृष्टिगत आईएसएम झोलाछाप डॉक्टरों पर कड़ी निगरानी रखी जाय। उक्त डॉक्टर लोगों को सर्दी जुकाम की शिकायत पर एलोपैथीक दवा वितरित कर रहे हैं।

IMG 20200611 WA0012

पत्र के सर्कुलेट होते ही मामले ने तूल पकड़ लिया। राजकीय आयुर्वेद एवम यूनानी चिकित्सा पद्धति के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ कृष्ण सिंह ने बताया कि जिम्मेदार पद पर बैठे सीएमओ द्वारा लिखे गए ऐसे पत्र जिसमे आयुर्वेद से जुड़े डॉक्टरों को झोलाछाप कहकर संबोधित किया गया हो पूरा संघ इसकी निंदा करता है।

IMG 20200611 WA0016

उन्होंने मामले को उच्च स्तर पर भेजकर तत्काल चिकित्सकों की भावनाओं को पहुंचे आघात के बारे में बताया है। कहा कि सीएमओ की इस प्रकार की भाषाशैली से सभी यूनानी चिकिसको में रोष व्याप्त है।

IMG 20200611 WA0014

तत्काल मामले में सीएमओ को खेद प्रकट करना होगा। इसके अलावा भविष्य में आयुर्वेद डॉक्टरों को इस प्रकार की भाषाशैली से संबोधित न करने का विश्वास संघ को दिलाना होगा। उधर मामले में गंभीरता दिखाते हुए उच्च स्तर पर मामले ने तूल पकड़ लिया। देर शाम मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा एक संशोधित पत्र प्रेषित किया गया है।

जिसमे अब आइएसएम, झोलाछाप कर दिया गया है। बहरहाल मामले में आयुर्वेद से जुड़े चिकित्सकों में रोष बना हुआ है।

Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश
To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap