Connect with us

देहरादून

आशंका: राजधानी में बर्ड फ्लू की सुगबुगाहट, एसएसपी कार्यालय परिसर में मिले मृत कौए…

देहरादून: पड़ोसी राज्यों में मरे हुए पक्षियों में घातक बर्ड फ्लू के वायरस पाए जाने के बाद उत्तराखंड शासन ने राज्य में बर्ड फ्लू का अलर्ट जारी किया है। राहत वाली बात अभी  यह है कि फिलहाल प्रदेश में बर्ड फ्लू का कोई केस सामने नहीं आया है। पिछले दिनों हिमाचल, राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में पक्षी मरे हुए पाए गए। जिनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है।

बर्ड फ्लू की आहट के बीच एक खबर देहरादून से भी आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एसएसपी दफ्तर के समीप दो कौए मरे हुए मिले हैं। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए कौओं के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। कौओं के मृत मिलने से लोगों में बर्ड फ्लू की दहशत है, हालांकि पक्षियों की मौत की वजह क्या है ये जांच रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा।

वाइल्डलाइफ फ़ोटोग्राफ़र पवन नेगी ने भी सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी थी कि ‘मैं 27 दिसम्बर को बर्डवाचिंग के लिए थानों मार्ग गया था। जहां सोंग नदी के पुल के पास एक स्टेपी ईगल मारा पड़ा था। जिसके शरीर पर कही भी कोई चोट का निशान नहीं थे। यदि बर्ड फ्लू की बात हो रही है। तो वन विभाग को यहां भी एक नज़र डालने की ज़रूरत है।’

केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार सभी जलाशयों, आद्र भूमि पर विशेष निगाह रखने को कहा गया है। गाइडलाइन के अनुसार जिन जगहों पर सबसे ज्यादा प्रवासी पक्षी पहुंचते हैं, वहां नजर रखनी होगी। कहीं भी पक्षी मरा हुआ पाया जाता है तो आधे घंटे में वन अधिकारियों को सूचना देनी अनिवार्य होगी। कुमाऊं के साथ गढ़वाल में भी निगरानी बढ़ाने को कहा गया है। प्रदेश में आसन बैराज, झिलमिल, नानक सागर, तुमड़िया, बैगुल आदि में प्रवासी पक्षियों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। ये वो जगहें हैं, जहां हर साल बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षी पहुंचते हैं

कोरोना काल के बीच बर्ड फ्लू की दस्तक से पड़ोसी राज्यों में हड़कंप मचा है। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित पोंग डैम जलाशय क्षेत्र में 2300 प्रवासी पक्षियों की मौत हो चुकी है। इनकी मौत की वजह एवियन इंफ्लूएंजा बताया जा रहा है। एहतियात के तौर पर हिमाचल प्रदेश में मुर्गों की बिक्री और खरीद पर रोक लगा दी गई है। पड़ोसी राज्य में बर्ड फ्लू के केस रिपोर्ट होने के बाद उत्तराखंड में भी अलर्ट जारी किया गया है।

फिलहाल उत्तराखंड में बर्ड फ्लू का कोई केस नहीं मिला है। प्रभागीय वनाधिकारी राजीव धीमान ने बताया कि उन्हें एसएसपी कार्यालय से सूचना मिली कि परिसर में दो कौए मृत पड़े हैं। जिस पर रेस्क्यू टीम को तुरंत मौके पर भेजा गया। टीम ने कौओं के शव को कब्जे में ले लिया। बर्ड फ्लू की आशंका के चलते दोनों कौओं के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश के अलावा मध्यप्रदेश, राजस्थान सहित कई राज्यों में भी बर्ड फ्लू के मामले सामने आ चुके हैं। इसे देखते हुए वन महकमा हरकत में आ गया है। सभी वन प्रभागों के डीएफओ को अपने-अपने क्षेत्रों की नदियों के साथ ही जंगलों में निगरानी करने को कहा गया है। जलाशयों पर निगरानी रखी जा रही है। बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए तमाम एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। वन विभाग ने लोगों से अपील की है कि यदि उनके क्षेत्र में कोई पक्षी मरा हुआ पाया जाता है तो वे तत्काल वन विभाग को इसकी सूचना भेजें। वन विभाग को टोल फ़्री नंबर 1926 पर कॉल कर सूचना दी जा सकती है।

Continue Reading
Advertisement

More in देहरादून

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

देश

देश
Advertisement
Advertisement

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

To Top
error: Content is protected !!
4 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap