Connect with us
1595142949820
शर्मनाक: शिक्षा विभाग में गलत काम न करो तो थप्पड़ पड़ते हैं, शिक्षा मंत्री के लाइजन अधिकारी की करतूत

उत्तरकाशी

शर्मनाक: शिक्षा विभाग में गलत काम न करो तो थप्पड़ पड़ते हैं, शिक्षा मंत्री के लाइजन अधिकारी की करतूत

WhatsApp Image 2020 09 16 at 10.00.24

ajax loader

उत्तरकाशी। आपको स्पष्ट कर दें कि हर जनप्रतनिधि भ्रष्ट नही होता, जैसे पुलिस में एका दा ऑफिसर गलत हो तो पुलिस विभाग को ही सब कोसते हैं, ऐसे ही सभी महकमों का हाल है। फिर वह पत्रकारिता भी क्यों न हो। ऐसा ही एक वाक्या उत्तरकाशी जनपद के आया है।

मामला शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के लाइजन ऑफिसर सुरेंद्र पाल सिंह नेगी का है। इन जनाब पर डीईओ को नियमों के विरोध काम कराने का है, यही नही जब जिला शिक्षा अधिकारी ने उक्त काम को करने से मना कर दिया तो नेगी ने अधिकारी को थप्पड़ जड़ देने की बात भी कही। यह सब आरोप जिला शिक्षा अधिकारी ने लगाए हैं।

अब जब स्वाभिमान पर बात आई तो जिला शिक्षा अधिकारी (प्राथमिक शिक्षा) जितेंद्र सक्सेना ने शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे को चिट्ठी लिख डाली, जिसमें उन्होंने मंत्री के लाइजन ऑफिसर सुरेंद्र पाल सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

उन्होंने लिखा है कि लाइजन अधिकारी उनसे ऐसा काम करने के लिए कह रहे थे, जो नियम विरुद्ध था। मना करने पर उन्होंने थप्पड़ मारने की धमकी दी। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी ने महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा को भी जानकारी दी है। अब तक इस मामले में शिक्षा मंत्री के लाइजन ऑफिसर की तरफ से कोई सफाई नहीं आई है। 

आरोप है कि 10 जुलाई को यूजेवीएन गेस्ट हाउस चिन्यालीसौड़ में लाइजन ऑफिसर ने राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय सिरोर के अध्यापक को पदोन्नत से पदस्थापना को यथावत रखने के संबध में मुझसे वार्ता की गई।

इस पर उनको नियमों के बारे में जानकारी दी गई कि राजकीय प्राथमिक शिक्षा सेवा नियमावली के तहत राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय (बालिका) के पदों केवल महिला अध्यापक को पदस्थापित किया जा सकता है।

जिला शिक्षा अधिकारी (प्राथमिक शिक्षा) का आरोप यह भी है कि इतना कहने के बाद उन्होंने अभद्रता करते हुए कहा कि मुझसे इतना एटिट्यूड क्यों दिखा रहे हो। जितना कहा जा रहा है, उतना करें…। इतना ही नहीं राजकीय इंटर काॅलेज बड़कोट में भी इसी तरह अभद्रता जारी रखी और कहा कि यहां पर देखते-देखते थप्पड़ पड़ जाता है।

मैं तुम्हें थप्पड़ मार दूंगा तो तुम कुछ नहीं कर पाओगे। उन्होंने आगे लिखा कि मैं यह पत्र आपको अत्यंत दुखी मन से लिख पा रहा हूं। अब सवाल ये है कि इस लाइजन ऑफिसर पर करवाई होगी कि नहीं, या फिर मामले को गोलमोल कर प्रस्तुत किया जाएगा।

Continue Reading
Advertisement

More in उत्तरकाशी

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश
To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap