Connect with us
1598322988191
विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन

उत्तराखंड

शर्मनाक: जिसने देवभूमि को गरियाया,एक साल बाद वह घर वापस आया,भाजपा ने किया वार्म वेलकम

ezgif.com resize

ajax loader

देहरादून। देवों की भूमि उत्तराखण्ड को गरियाने और तमंचे पर डिस्को करने वाले विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की वार्म वेलकम के साथ फिर से भाजपा में घर वापसी हो गई है। इसको लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

अनुशासनहीता के मामले में करीब साल भर से भाजपा से निष्कासित चल रहे खानपुर के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन की पार्टी के ससम्मान वापसी हो गई।

कई बार उत्तराखंड को कई तरीके से गरियाने वाले चैंपियन के मामले में कोर ग्रुप के तमाम भाजपा दिग्गज कोई सवाल खड़ा करने की हिम्मत तक नहीं जुटा सके।

उत्तराखंड भाजपा के कदावर और दिग्गजों का राज्य के प्रति ऐसा रवैया एक नहीं कई बार देखा जा चुका है। गढ़वाल, कुमांऊनी और जौनसारी बोल की समझ से संबंधित मामले में भी थोड़े से विरोध से भाजपा के दिग्गजों ने चुप्पी साध ली थी।

बहरहाल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर भगत ने कहा कि चैंपियन ने अपने आप में बड़े सुधार किए हैं।

इस मौके पर विधायक चैंपियन ने भी लगे हाथ अपनी गलती के लिए खेद व्यक्त किया। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र से अपने संबंधों का जिक्र किया।

बहरहाल, भाजपा द्वारा चैंपियन को दी गई इस माफी को लेकर राज्य के लोगों द्वारा तीखी प्रतिक्रिया सुनने को मिल रही है। इसको लेकर कांग्रेस ने भाजपा की घेराबंदी भी शुरू कर दी है।

देखना ये है कि उत्तराखण्ड को गरियाने वाले इस विधायक की दुबारा से भाजपा में सम्मान वापसी करना पार्टी के लिए कितना शुभ होता है।

शर्मनाक निर्णय


स्वतंत्र पत्रकार गजेंद्र रावत ने कुंवर प्रणव चैंपियन के ख़िलाफ़ देहरादून के नेहरु कॉलोनी थाने में उत्तराखंड के लोगों की भावनाएं आहत करने का आरोप लगाते हुए एफ़आईआर दर्ज करवाई थी। रावत ने चैंपियन के पास दिख रहे हथियारों की जांच की भी मांग की थी।

गजेंद्र रावत कहते हैं कि पहले तो पुलिस इस मामले में एफ़आईआर दर्ज करने से बचती रही और फिर देहरादून से लीपापोती करती रही। पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई की ही नहीं। वह कहते हैं कि उन्हें आशंका थी कि बीजेपी चैंपियन को वापस ले लेगी।

रावत कहते हैं कि साफ़ है कि बीजेपी में चाल, चरित्र और चेहरे की बातें हैं वह दिखाने के लिए हैं और उससे उलट हकीकत सामने है। जिस आदमी ने उत्तराखंड को मां-बहन की गालियां दीं उसे यह वापस ला रहे हैं क्योंकि इन्हें चुनाव जीतने हैं। यह उत्तराखंड बीजेपी का कलंक और शर्मनाक निर्णय है।

Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

देश

देश

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap