Connect with us

उत्तराखंड

राजनीति: आख़िर हर दा से क्यों उखड़ रहे कांग्रेसी, क्या है माजरा

देहरादून- उत्तराखंड कांग्रेस की आपसी खींचतान खत्म होती ही नहीं दिख रही है। अब उत्तराखंड कांग्रेस में हरीश रावत द्वारा बागियों पर किये गए ट्वीट पर कांग्रेस में बयानबाजी शुरू हो गई है और पार्टी फिर दो हिस्सों में बंटती दिख रही है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का बागियों को कांग्रेस से रूठा हुआ बताए जाने से पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव हरीश रावत खासे नाराज दिख रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गर्व के पल: उत्तराखंड की बेटी ने टोक्यो ओलंपिक में रचा इतिहास, शानदार प्रदर्शन से किया देश का नाम रोशन

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पार्टी नेताओं पर तंज कसते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट की जिसमें रावत ने लिखा कि “लोकतंत्र को ध्वस्त करने वाले दल बदलू, रूठे हुए अपने हो गए” और “कोर्ट ने भी इन रूठे हुए लोगों को दल-बदलू कहकर सदस्यता रद्द की थी”। जिसके बाद कांग्रेस में अंतर्कलह साफ नजर आ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  सावधान: तीसरी लहर कहीं बरपा न दे कहर, देहरादून में एक बालक में मिले कोरोना के लक्षण...

वही नेता प्रतिपक्ष ने भी प्रीतम सिंह के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि हरीश रावत जो भी कहें हम उनके ऊपर आपने विचार नहीं थोप सकते उनका राजनीति में लंबा अनुभव है। और आगे कहा कि राजनीति में दरवाजे खुले रखने पड़ते हैं किसी के लिए बंद नहीं किये जाते।

यह भी पढ़ें 👉  रिजल्ट: उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट जारी, वेबसाइट नहीं कर रही काम, तो ऐसे देखे अपना परिणाम...

प्रीतम सिंह की तरह ही इंदिरा ह्रदयेश ने भी कांग्रेस छोड़ गए नेताओं को बागी कहने से इनकार किया है। जबकि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सोशल मीडिया व अपने बयानों में बागियों के खिलाफ मोर्चा खोले रहते हैं। वहीं कांग्रेस में आने वाले चुनाव से पहले ही अंतर्कलह देखने को मिल रही है।

Latest News -
Continue Reading

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश
Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
2 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap