Connect with us

सावधान: ग्राम प्रधानों के दस हज़ार पर मुनाफाखोरों की नज़र..

83e.g uttarakhand today
सावधान: ग्राम प्रधानों के दस हज़ार पर मुनाफाखोरों की नज़र..

उत्तराखंड

सावधान: ग्राम प्रधानों के दस हज़ार पर मुनाफाखोरों की नज़र..

2ads

ajax loader

मंजू राणा

पौड़ी जिले में भ्रष्टाचार के आदी हो चुके खिलाड़ियों ने कोरोना महामारी के इस दौर में भी जेब भरने का इंतज़ाम कर लिया है।

IMG 20200621 205257


सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि प्रधानों को मिले 10 हज़ार की मामूली रकम पर भी धंधेबाज़ों की निगाहें लगी हैं..तो इन धंधेबाज़ों ने माननीय उच्च न्यायालय के एक आदेश की आड़ में ये खेल खेल दिया। जिले की एक हज़ार से अधिक ग्राम पंचायतों में सफाई के लिये एक किट देने का निर्णय लिया गया।

इस खेल में पूरे जिले के लिए हैंड सेनिटाइजर, साबुन, ब्लिचिंग, टॉयलेट_क्लीनर, ब्रश इत्यादि एक किट बनाने के लिए कोटेशन माँगे गये। जिला पंचायतीराज अधिकारी के कार्यालय में 8 फर्मों ने कोटेशन डाले, जिसमें प्रति किट 8 हज़ार से अधिक के कोटेशन भरे गये।

IMG 20200621 205350

जबकि आपदा में अपने गांव की सुरक्षा के लिये प्रधानों ने अपने स्तर से गांव मे आने वाले माइग्रेंट के लिये पहले ही सेनिटाइजर की व्यवस्था की हुई थी । इस सारे खेल में एक कंपनी ने 5400+500 रुपये के कोटेशन डाल दिये। इस रेट के पड़ने के बाद तय कर लिया गया कि इसी रेट पर 15 ब्लॉकों के गांवों को आपस मे बाँट कर बंदरबांट कर ली जाय।

उक्त कंपनी ने सारा माल उधम सिंह नगर की एक फर्म से खरीदा जा रहा है। जबकि और सब सामान श्रीनगर और ऋषिकेश की कई फर्मो में आसानी से उपलब्ध हो सकता था। बावजूद इसके यह सामान पौड़ी से करीब 300 किलोमीटर दूर उधम सिंह नगर से खरीदा जा रहा।

बताया जा रहा है कि इस सारे मामले में भाजपा के एक नेता ने अपने बेटे को भी एक कंपनी में सैट करवा दिया है। जबकि इससे पहले जिला पंचायत द्वारा अभी तक गांवों में 25 लाख से अधिक का छिड़काव किया जा चुका है

और अब फिर से जिला पंचायत ने 80 सेनिटाइजर मशीन हाल ही में ख़रीदीं हैं जिनको फिर गांवों में सैनिटाइज के काम में लगाया जायेगा। इस पूरे खेल में जिला प्रशासन भी शामिल बताया जा रहा है।

Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

To Top