देहरादून। ऋषिनगरी के छात्रों के लिए अच्छी खबर है कि ऋषिकेश के श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के पीजी कॉलेज में सीटों की संख्या नहीं घटेगी। बताया जा रहा कि सीट घटने का मामला जैसे ही उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के संज्ञान में आया तो उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशानस से वार्ता की। जिसमें तय किया गया कि […]" /> देहरादून। ऋषिनगरी के छात्रों के लिए अच्छी खबर है कि ऋषिकेश के श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के पीजी कॉलेज में सीटों की संख्या नहीं घटेगी। बताया जा रहा कि सीट घटने का मामला जैसे ही उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के संज्ञान में आया तो उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशानस से वार्ता की। जिसमें तय किया गया कि […]"> शिक्षा: नहीं घटेंगी पीजी कालेज ऋषिकेश में सीटें, कालेज प्रबंधन का फ़ैसला » Uttarakhand Today News
Connect with us
1599111083616

देहरादून

शिक्षा: नहीं घटेंगी पीजी कालेज ऋषिकेश में सीटें, कालेज प्रबंधन का फ़ैसला

ezgif.com resize

ajax loader

देहरादून। ऋषिनगरी के छात्रों के लिए अच्छी खबर है कि ऋषिकेश के श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के पीजी कॉलेज में सीटों की संख्या नहीं घटेगी। बताया जा रहा कि सीट घटने का मामला जैसे ही उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के संज्ञान में आया तो उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशानस से वार्ता की।

जिसमें तय किया गया कि गत वर्ष की भांति इस शैक्षणिक सत्र में भी सीटों को यथावत रखने का निर्णय लिया गया है। दरअसल, बीते दिनों इस संबंध में महाविद्यालय के पदाधिकारियों और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने स्पीकर अग्रवाल से बात की थी और उनके सामने अपनी समस्याओं को रखा था। जिसका स्पीकर ने तुंरत संज्ञान लिया था।

उन्होंने इस संबंध में श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पीपी ध्यानी से बात की थी। बुधवार को इस मामले में जानकारी देते स्पीकर अग्रवाल ने कहा कि गत वर्ष की भांति इस शैक्षणिक सत्र में भी उतनी ही सीटों पर छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाएगा। इस संबंध में जल्द ही कुलपति की तरफ से औपचारिक आदेश निर्गत किया जाएगा।

सीटों की संख्या यथावत रहने से किसी भी छात्र-छात्रा का कोई नुकसान नहीं होगा।

Continue Reading
Advertisement

More in देहरादून

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

Like Facebook Page

To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap