Connect with us

टिहरी गढ़वाल

ऋषिकेश- क्यों थम गए कुछ देर तक डीएम टिहरी के वाहन के पहिये, जानिए क्या है मामला

नरेंद्रनगर। वाचस्पति रयाल
ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग(एनएच-94)पर हिंडोलाखाल व बगरधार के बीच कुखतर में पहाड़ी से भारी मलबा और बोल्डर गिरने से राष्ट्रीय राजमार्ग 3 घंटे तक जाम रहा।


घटना लगभग 8:30 बजे सुबह की है।यहां पर पहाड़ी भारी कमजोर होने के कारण आए दिन वक्त-बेवक्त दरकती रहती है।जिसके कारण अक्सर यहां पर वाहनों की आवाजाही में भारी दिक्कतें सामने आती रहती हैं।


घटना के चश्मदीद गवाह सुरेंद्र सिंह कंडारी ने बताया कि ऑल वेदर रोड निर्माण के कारण”कुखतर” की खड़ी कमजोर पहाड़ी से भारी मलबा और बोल्डर टूट कर सड़क पर गिरने से राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित हो गया। कंडारी ने बताया कि घटना लगभग सुबह 8:30 बजे की है।

यह भी पढ़ें 👉  BIG BREAKING: टिहरी गढ़वाल में भाई ने ही भाई को उतार दिया मौत के घाट, रिश्ते हुए तार-तार...


बता दें कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और स्थानीय प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे,और तत्काल जेसीबी से मलवा हटाने को संबंधित विभागों को निर्देश दिए।

कुछ देर जिलाधिकारी भी फंसे जाम में

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल टिहरी से बैठक लेने मुनी की रेती जा रहे थे कि वे भी जाम में फंस गए। जिलाधिकारी ने तत्काल मलवा हटाने के निर्देश संबंधित विभागों को दिए


और परिस्थितियों के मुताबिक जिला अधिकारी अपना निजी वाहन यहीं पर छोड़ कर पैदल मलबे को पार करते हुए दूसरी ओर पहुंचे तथा उप जिलाधिकारी नरेंद्र नगर के वाहन से बैठक लेने मुनिकीरेती की ओर रवाना हो गए।

यह भी पढ़ें 👉  BIG BREAKING: टिहरी गढ़वाल में भाई ने ही भाई को उतार दिया मौत के घाट, रिश्ते हुए तार-तार...


बता दें कि मुनिकीरेती क्षेत्र के शीशम झाड़ी में कल कोरोना का बम फूटा था जहां एक ही दिन में 27 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए थे। जबकि आज समाचार लिखे जाने तक इसी क्षेत्र से 5 कोरोना पॉजिटिव मामले और सामने आए हैं।


कोरोना महामारी से निपटने व इस पर काबू पाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने मुनिकीरेती में अधिकारियों व कोरोना योद्धाओं की बैठक आहूत की थी, इसी बैठक को लेने मुनिकीरेती जाते हुए जिलाधिकारी को भी जाम में फंसना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  BIG BREAKING: टिहरी गढ़वाल में भाई ने ही भाई को उतार दिया मौत के घाट, रिश्ते हुए तार-तार...


जिलाधिकारी के जाने के तुरंत बाद ही जेसीबी घटनास्थल पर पहुंच गयी थी। मलवा हटने के बाद ही यातायात सुचारू हो सका।
दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लगी रही। और यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।


3 घंटे के बाद ही सड़क पर से मलवा साफ हो सका तभी जाकर लगभग 11:30 बजे दिन को वाहनों की आवाजाही रोड पर शुरू हो सकी।

Latest News -
Continue Reading

More in टिहरी गढ़वाल

उत्तराखंड

उत्तराखंड

देश

देश
Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap