Connect with us

उत्तराखंड

Budget 2022: केंद्रीय बजट सांसद में पेश, जानिए क्या हुआ मंहगा और क्या सस्ता…

दिल्लीः केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल का चौथा बजट सांसद में पेश कर दिया है। बजट से लोगों को काफी उम्मीदें थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट की घोषणा कर कई बड़े ऐलान किए है। भाषण के दौरान कॉरपोरेट टैक्स को 18 प्रतिशत से घटकर 15 फीसदी करने का ऐलान किया। इस बजट से अगले 25 सालों की बुनियाद रखी जाएगी।  इस दौरान उन्होंने कहा कि 60 हजार युवाओं को नौकरी दी जाएगी। वहीं सालभर में पूरे देश में गरीबों के लिए 80 लाख घर बनाए जाएंगे। डिजिटल करेंसी को लेकर भी एलान हुआ। इस बीच उन्होंने कई चीजों पर कस्टम ड्यूटी, आयात शुल्क समेत अन्य  शुल्क बढ़ाए और घटाए जाने की बात कही। इससे बहुत से सामान सस्ते होंगे, तो वहीं कई चीजें सस्ती होंगी।

वित्त मंत्री ने कहा कि अगले तीन साल के दौरान 400 नई वंदेभारत ट्रेनें शुरू की जाएंगी. ‘मेक इन इंडिया’ के तहत 60 लाख रोज़गार सृजित किए जा सकते हैं. ई-पासपोर्ट, 5G मोबाइल सर्विस के रोलआउट के लिए स्पेक्ट्रम नीलामी, दो साल के भीतर अपडेटेड रिटर्न फाइल करने की सुविधा, डिजिटल रुपया, डिजिटल यूनिवर्सिटी समेत अन्य बड़ी घोषणाएं की गई हैं। एमएसएमई सेक्टर को मदद मुहैया कराने के लिए स्टील स्क्रैप पर कस्टम ड्यूटी में छूट एक साल के लिए बढ़ाई गई है। कट और पालिश़्ड डायमंड के अलावा जेम्स एंड ज्वैलरी पर आयात शुल्क घटाकर पांच फीसदी कर दी गई है। वर्तमान में कटे और पालिश किए गए हीरे के साथ-साथ रत्नों पर आयात शुल्क 7.5 प्रतिशत है। लोकसभा में 2022-23 के लिए बजट पेश करते हुए, सीतारमण ने यह भी घोषणा की कि सरकार ई-कामर्स के माध्यम से आभूषणों के निर्यात की सुविधा प्रदान करेगी, जिसके लिए वह इस साल जून तक फ्रेमवर्क लागू करेगी।

स्टेनलेस स्टील और कोटेड स्टील, अलोय स्टील के कुछ हिस्सों पर कुछ एंटी-डंपिंग शुल्क (एडीडी) और काउंटरवेलिंग ड्यूटी (सीवीडी) हटा दिया जाएगा। घरेलू स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए मोबाइल फोन, चार्जर, ट्रांसफर आदि पर इंपोर्ट ड्यूटी में छूट दी गई है। पेट्रोलियम उत्पादों के लिए आवश्यक रसायनों के अलावा मेथनाल सहित कुछ रसायनों पर सीमा शुल्क घटाई गई है। कपड़ा, चमड़े का सामान, मोबाइल फोन, चार्जर, हीरे के आभूषण, खेती के सामान सस्ते होंगे। इसके अलावा पालिस हीरे पर कस्टम ड्यूटी घटाई गई है। इसके अलावा विदेशी मशीनें और इलेक्ट्रानिक समान सस्ते होंगे।

क्या हुआ महंगा

कैपिटल गुड्स पर आयात शुल्क में छूट खत्म कर दिया गया है। इसपर 7.5 फीसदी आयात शुल्क लगा दिया गया है। वहीं इमिटेशन ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है। इसका कारण आयात को कम करना है। विदेशी छाता भी महंगा होगा।आयातित सामान महंगे होंगे। इसके अलावा आगामी अक्टूबर से बिना ब्लेंडिंग वाले फ्यूल पर दो रुपये प्रति के लीटर के हिसाब से एक्साइड ड्यूटी लगेगी।

Latest News -
Continue Reading

More in उत्तराखंड

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement

देश

देश

YouTube Channel Uttarakhand Today

Our YouTube Channel

Advertisement

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
5 Shares
Share via
Copy link