Connect with us

इबारत: उत्तराखंड के बदलते, संवरते सरकारी स्कूलों की जरा इन तस्वीरों को भी देखिए, वाह कहने पर होंगे मजबूर…

देहरादून

इबारत: उत्तराखंड के बदलते, संवरते सरकारी स्कूलों की जरा इन तस्वीरों को भी देखिए, वाह कहने पर होंगे मजबूर…

देहरादून। जी हां हम किसी रइस या फिर उद्योगपति के निजी स्कूल की बात नहीं कर रहे हैं। यह स्कूल उत्तराखंड सरकार का अपना स्कूल है,खास बात यह है कि इस स्कूल में प्रवेश करते ही द्रोण नगरी की मान्यता चरितार्थ हो रही है। एजुकेशन हब कहे जाने वाले देहरादून में सरकारी स्कूलों का ढांचा अब हाई क्लास हो चुका है। दरअसल ये स्कूल देहरादून के रायपुर ब्लॉक का राजकीय प्राथमिक विद्यालय रामगढ़ है। जहां बिल्डिंग से लेकर पठन पाठन तक दिल्ली के टॉप स्कूलों को फेल करता नजर आ रहा है। इसे देख कहा जा सकता है कि उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों के दिन बहुरने लगे हैं, प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों को भेजने वाले अभिभावकों और बच्चो को सरकारी स्कूलों में जाने में अब कोई असमंजस नही होगा।

यह भी पढ़ें:  Big Breaking: टिहरी घनसाली में अभी-अभी दर्दनाक हादसा, एक महिला की मौत...

बता दें, राजधानी देहरादून के रायपुर ब्लॉक के बंजारावाला संकुल के अंतर्गत स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय रामगढ़ उत्तराखंड के अन्य सरकारी स्कूलों के लिए आदर्श स्थापित कर रहा है। इस सारे मिशन के सूत्रधार कोई कार्यदायी संस्था नहीं बल्कि विद्यालय के प्रिंसिपल अरविंद सिंह सोलंकी हैं,पिछले 6 वर्षों में स्कूल ने पठन पाठन से लेकर यंहा की व्यवस्थाओं में ऊंचे पायदान पर कदम रखा है, कह सकते हैं कि निजी विद्यालयों में शायद ही इस स्कूल जैसा हो, जहां फीस तो सरकारी लेकिन पठन पाठन और सौन्द्रीयकर्ण हाई क्लास है। अरविंद सोलंकी ने वर्ष 2016 में विद्यालय की कमान संभाली थी, उस वक्त विद्यालय में छात्र संख्या मात्र 61 थी जो आज उनके व उनके स्टाफ की कड़ी मेहनत से बढ़कर 147 हो चुकी है जो कि बड़ी उपलब्धि है। यहीं नहीं सोलंकी ने विद्यालय में भवन जीर्णोद्धार के साथ साथ पठन पाठन की भी अलग परिपाटी तैयार की है।

यह भी पढ़ें:  Big Breaking: सीएम धामी ने उठाया बड़ा कदम, BPCL के साथ किया MOU साइन, मिलेगा ये लाभ...

विद्यालय में बच्चों को सरल विधि से गणित की पहेलियों को सुलझाने के साथ-साथ, भारत के राष्ट्रीय प्रतीक व मानचित्र को शानदार चित्रकारी से प्रदशित किया गया है। इसके अलावा उत्तराखंड राज्य का मानचित्र व राजकीय प्रतीकों को भी बेहतर ढंग से दीवारों पर बनाया गया है। खास बात यह भी है कि विद्यालय में मध्याह्न भोजन में स्वादिष्ट व पौष्टिक खाना भी विद्यार्थियों को खिलाया जाता है जिससे वे स्वस्थ रहें। विद्यालय में कुल 8 स्टाफ कार्यरत है जिसमें प्रधानाचार्य अरविंद सोलंकी सहित पाँच शिक्षक ऊषा चौधरी, रुचि सेमवाल,मीना घिल्डियाल, मधुलिका व तीन भोजन माताएं लक्ष्मी देवी,विमला देवी,व नीलिमा थापा शामिल है।

इबारत: उत्तराखंड के बदलते, संवरते सरकारी स्कूलों की जरा इन तस्वीरों को भी देखिए, वाह कहने पर होंगे मजबूर… via @https://in.pinterest.com/uttarakhandtoday/
Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in देहरादून

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Our YouTube Channel
Advertisement
Advertisement

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
1 Share
Share via
Copy link
Powered by Social Snap